माना की मुश्किल है सफ़र पर सुन ओ मुसाफिर

ओ कहीं अगर तू रुका तो मंजिल आएगी ना फिर

कदम कदम मिलाये जा गगन गगन झुकाए जा

रख हौसला कर फैसला तुझे वक्त बदलना है

Maana Ki Mushkil Hai Safar Par Sun O Musaaphir

O Kaheen Agar Too Ruka To Manzil Aaege Na Phir

Kadam Kadam Milaaye Ja Gagan Gagan Jhukae Ja

Rakh Hausala Kar Faisala Tujhe Vakt Badalana Hai

Read Full lyrics